What is SEO in Hindi |

What is SEO in Hindi || SEO क्या है और यह कैसे काम करता है ?

अगर है ये ख्याल आपके भी दिमाग मे आता है की What is SEO, Types Of SEO, SEO करते कैसे है ? SEO या Search Engine Optimization यह एक ऐसा तकनीक हैजिससे हम अपने website या blog को किसी भी सर्च इंजन पर टॉप में ला सकते हैया रैंक करवाते हैं ।  इस पोस्ट में मै आपको बिलकुल ही basic से बताउगा SEO in Hindi के बारे में और इसकी पूरी जानकारी दूंगा। 

SEO को समझना इतना भी मुश्किल नहीं है अगर आपने SEO करना सिख लिए तो आप किसी भी blog / website को बहुत ही आसानी Google में rank  करवा सकते हो |

अगर आप SEO को बिलकुल अच्छे से जानना चाहते हो तो आपको कुछ SEO के terms के बारे मे पता होना चाहिए, ताकि आप step by step SEO को आसानी  से सिख पाओ।

Organic traffic और Inorganic traffic क्या होते हैं?

SEO के बारे मे जानने से पहले हम कुछ  important terms है जो समझना बहुत आवश्यक है 

SERP (Search Engine Result Page) पर मुख्य रूप ऐ दो तरह की traffic होती हैं – Organic और Inorganic.

1 Organic traffic: 

Organic क्या है और इसका SEO मे क्या Role है। Organic traffic पूरी तरह से free traffic होती है यानि की बिना पैसे दिये हम Google के टॉप page पर भी अपने अपने वेबसाइट को ला सकते हैंलेकिन इसके लिए आपको अच्छा SEO करना होता है | SEO Organic ही है  मतलब जब भी बिना पैसे खर्च किये जो भी Digital Marketing हम करते है वो Organic ही होता है. 

Organic एक Process है जिसमे हम कोई Paid Promotion नहीं करते या किसी भी तरह कोई पैसे खर्च नहीं करते अपने वेबसाइट को Google में Rank कराने के बदले |


2 Inorganic Traffic : 

दूसरा तरीका - Inorganic traffic के लिया हमें पैसे खर्च करने होते है। मतलब की ये Paid traffic होते हैं और इसमें पैसों का भुक्तान करना पड़ता है |

मतलब Inorganic वो process है जिनमे हम अपने पैसे खर्च करते है और Paid प्रमोशन का करते है अपने products या services का मतलब Paid Campaign चलाते, ऐसे मार्केटिंग जिनके लिए पैसे खर्च करने पड़ते है उन्हें Inorganic Marketing कहते है।

अभी तक हमने कुछ SEO important terms समझें जिसे SEO के बारे मे जानने से पहले जानना बहुत जरुरी था जो मैंने बहुत ही आसन शब्दो मे आपको समझाने का कोसिस किया है.

Basic Concept Of SEO in Hindi

1 SERP: Search Engine Result Page

SERP का Full Form होता है Search Engine Result Page. जब आप Google पर कुछ Search करते हो तो आपके सामने Results आते है और जब आप निचे scroll कर के देखोगे तो वह आपको बहुत सारे page दिखेगे 1,2,3,4,5,… कुछ इस तरह से। ईसे हम search engine का Result Page कहते है जिसमे हमारे question का Result शो होता है।



2 Keyword: / Query In SEO 

आप जो कुछ भी लिख कर google पे search करते हो, basically उसे ही keyword कहते है । आप इस तरह से समझ सकते हो की आप जो भी google पे search करने के लिए लिखते हो वो keyword होता है।



SEO in Hindi How Get Traffic From Google?

अब मै एक question पूछता हूँ जवाब आप खुद देंगे, आप जब भी Google पे कुछ Search करते हो तो क्या आप निचे page no 2 पर या 3 पर Click कर के जाते हो,  

90% लोग जब भी Google पे कुछ Search करते है तो वो First page पे ही किसी Website को open कर अपना डाउट या Information ले लेते है | 

तो सोचिये अगर आपके पास एक वेबसाइट है और या आप ब्लॉग्गिंग करते हो तो आपका सबसे पहला टारगेट क्या होगा। 

हर एक ब्लॉगर चाहता है की वह जो भी ब्लॉग पोस्ट लिखता है उसे ज्यादा से ज्यादा लोग पढ़ें, या उसके blog पर बहुत सारी Traffic आये | आप SEO कर के अपने website को google के  1st Page पर ला सकते हो | 

आप चाहे कितनी भी अच्छी article लिख लें अगर आपके article ठीक तरीके से rank नहीं हो रहे है तब उसमें traffic आने की संभावनाएं न के बराबर होती है |  अब सवाल आता है की ज्यादा Traffic आएगा कहाँ से? तो इसका जवाब है Search Engine” मतलब की website सही तरीके से Optimized करना होगा जिससे की वो Search Engines में rank हो सके। और इसी process को SEO कहते हैं | 


अब जरा सोचिये जो content आपने अपने blog पर publish किया है, उससे related जब भी कोई व्यक्ति search करे google पर, और रिजल्ट वाले पेज में सबसे टॉप पर आपके वेबसाइट की लिंक आ जाता है, तो क्या होगा की लोग उस पर click करेंगे और आपके ब्लॉग की ट्रैफिक बहुत ज्यादा बढ़ जायेगी | 

किसी भी webpage को search engine में दिखाने के दो तरीके होते है जिनमे से एक है SEM और दूसरा SEO. जो निचे दिया गया है | 

अब तक आपको समझ आ गया होगा की SEO एक Organic Process है जिसके द्वारा Google के Search Result Page मे हम अपने वेबसाइट का Ranking Increase करते है |

1 Search Engine Marketing (SEM)

2 Search Engine Optimization (SEO)


1 Search Engine Marketing (SEM)

friends जहाँ भी SEM की बात आती है तो इसका मतलब होता है paid marketing, हम गूगल को कुछ पैसे देकर अपने blog / website का  advertisement कर सकते हैं, इसी को कहते है SEM.  

2 Search Engine Optimization (SEO)

जब बात सर्च इंजन की हो रही है तो आपकी जानकारी के लिए बता दूँ की, Google पूरी दुनिया का सबसे popular search engine है इसके अलावा Bing, Yahoo जैसे और भी search engine platform है।

जहाँ भी बात हो SEO का तो SEO एक ऐसा तरीका है जिसमे हम अपने website को गूगल में बिना कोई पैसे दिए organic तरीके से Traffic ला सकते हैं।


SEO in Hindi इतना Important क्यूँ है?

90% लोग जब भी Google पे कुछ Search करते है तो वो  बहुत ही कम लोग होते है जो page no 2 या 3 page पे जाते है और 3 के बाद तो बड़ा मुश्किल ही कोई जाता होगा।

गूगल की हमेशा यही कोशिश होती है की वह हमेशा quality content को पहले पेज पर दिखाएइसके लिए google ने कई सारे ranking factors या नियम तय किये है । जिसका पालन Search Engine Optimization के जरिये करके अपने blog के post को publish करते है | 

हम Google में जाकर कुछ भी keyword type कर के search करते हैं तो उस keyword से related जितने भी contents होते हैं google के पास वो आपको दिखा देता है. ये contents जो हमे google दिखाता है वो सभी अलग अलग blog या website से ही आते हैं.

अभी के लिए मान कर लेते है हम एक पोस्ट लिख रहे हैं जिसका title है “Digital Marketing” अब आप इसे गूगल पर सर्च करके देखें…



आप देख सकते हैं की उस Keyword से जुडी जानकारी 2,43,00,00,000 pages पर पहले से मौजूद है। अब इन सभी को पीछे छोड़ कर अगर आप अपने ब्लॉग को टॉप पर लाना चाहते हैं तो यह बिना SEO के सम्भव नही है।

अब मान लीजिये आपने एक website बना लिया उसमे अच्छे अच्छे high quality के contents भी publish कर दिया लेकिन अगर मैंने SEO का इस्तेमाल नहीं किया तो मेरा blog लोगों तक नहीं पहुँच पायेगा और मेरे blog बनाने का भी कोई फायेदा नहीं होगा.


अगर हम SEO का इस्तेमाल नहीं करेंगे तो जब भी कोई user कोई keyword search करेगातो आपके website में उस keyword से related अगर कोई content है तब भी वह user आपके blog को access नहीं कर पायेगा।

और ऐसा इसलिए होगा क्यूंकि search engine आपके site को ढूंढ ही नहीं पायेगा और न ही आपके website के content को | तो आपकी website google अपने database पर store ही नहीं कर पायेगा। इस लिए आपके website में traffic आना बहुत ही मुश्किल हो जायेगा. इसलिए आपके साइट में सही ढंग से SEO करना बहुत ही ज़रूरी होता है।


SEO in Hindi यह कैसे काम करता है?

SEO कैसे काम करता हैइसे समझने के लिए हमें सर्च इंजन को समझना पड़ेगा की आखिर वह किस प्रकार के content को SERP में top position पर दिखाता है?

गूगल और बाकी के सभी search engines की एक ही कोशिश होती है की वह अपने users को सबसे सही जानकारी प्रदान करना |

इसके लिए search engines उस जानकारी से सम्बन्धित websites को search करता है और उसको अपने database में store करता है इसके बाद अपने algorithm के मध्यम से quality और credibility के आधार पर रैंकिंग देता है।

1 Crawling क्या है या किसे कहते है ?

Crawling: आप जो भी google पे देखते हो वो सब google के पास कहाँ से आता है, तो उसे किसी blogger ने या किसी न किसी ने लिख कर अपने Website / blog पे डाला होता है और उन्ही के लिखे हुए Blog को Google के Crawler crawl करता है या कह सकते हो की (scan) करता है या read करता है और समझने की कोसिस करता है ये content किसके बारे में है और उस website के information को google के database में save कर देता है | जब कोई query search करता है google पर तो google उसमे से ही result दिखता है | जब Google का Crawler वेबसाइट के content को पढता / है या scan करता है तो उसे ही Crawling कहते है। Crawler को Spider या Googlebot भी कहते है |

जब हम अपने वेबसाइट पे कोई भी content publish करते है और उसे Google का Crawler (spider) पढता है और ईसी को Crawling कहते | 

 

2 Indexing क्या है या किसे कहते है ?

जब Google Content को Crawling Process के द्वारा पढ़ लेता है तब वो उस Content को Index करता है | Index करने का मतलब है की Google उस Content को अपने database मे Save करता है ताकि जब भी कोई google पर search करे तो उसका Answer दे पाए और इस Process को Indexing कहते है।

3 Google Algorithm:  

Google Algorithm: Google Algorithm एक तरह का rule है जो Google के द्वारा बनाया गए हैexample के लिए जैसे Traffic Rules - जो Follow करते है तो सुरक्षित रहते है ठीक ऐसे ही Google के कुछ Rules और Guidelines है और ये लगभग 200 से भी ज्यादा Factors है जिन्हें अगर कोई Follow करे तो किसी भी वेबसाइट को SERP (Search Engine Result Page) मे #1 Page पे लाया जा सकता है | Google के द्वारा दिए गए इन Guidelines को ही हम Google Algorithm भी कहते है।


What is SEO in Hindi ?  Search Engine Optimization in Hindi

SEO का full form “Search Engine Optimization” है। यह एक ऐसी technique है जिससे हम अपने वेबसाइट या ब्लॉग के content को optimize करके सर्च इंजन के page पर किसी keyword के लिए टॉप पोजीशन पर rank करा सकते हैं।

मतलब SEO एक ऐसा प्रोसेस है जिससे हम अपने वेबसाइट / ब्लॉग को सर्च इंजन में rank करवाते हैं ताकि हमें ज्यादा से ज्यादा traffic मिल सके organic तरीके से।

किसी भी ब्लॉग या वेबसाइट को गूगल के SERP (Search Engine Result Page) में rank कराने के लिए SEO करना बहुत जरुरी होता है |

SEO एक long-term process है, ऐसा नहीं की जैसे ही हमने blog का SEO करना start किया तो आपको उसका result तुरंत दिखने लगेगा इसके लिए आपको धैर्य रख कर अपना काम करते रेहने होगा | SEO एक का result मिलने में थोडा time लगता है और एक बात SEO एक Ongoing process है |  


SEO कितने प्रकार के होते हैं? (Types of SEO in Hindi)

SEO basically दो प्रकार के होते हैं एक है ONpage SEO और दूसरा है OFFpage SEO लेकिन इसके आलावा भी कुछ और चीजे है जिसे SEO में ही लिया किया जाता है | इन सभी का काम बिलकुल अलग-अलग होता है | चलिए हम Types of SEO के बारे में भी जान लेते हैं.

1. On-Page SEO

2. Off-Page SEO

3. Technical SEO

4. Local SEO


1 SEO in Hindi - On-Page SEO क्या है?

On page SEO का काम आपके blog में होता है. इसका मतलब है की अपने website के content को ठीक तरह से design करना जो SEO friendly हो, basically On-Page SEO में हम अपने वेबसाइट या ब्लॉग के कंटेंट को optimize करते हैं।

SEO के rule को follow कर के अपने website में responsive template का इस्तेमाल करना.

अच्छे contents लिखना और उनमे अच्छे keywords का इस्तेमाल करना जो search engine में सबसे ज्यादा search जाती हो आपके Niche से related. Keywords का इस्तेमाल page में सही जगह पर करना जैसे Title Tag, Meta description Tag, content में भी keyword का इस्तेमाल करना |

इससे Google को जानने में आसानी होती है की आपका content किसके बारें लिखा गया है और इससे जल्दी आपके website को Google page पर rank करने में मदद मिलती है जिससे आपके blog की traffic बढती है.


इसके लिए हमें मुख्य रूप से 3 काम करने होते हैं:

1 Keyword Research करना

2 Content Create करना

3 Keyword Optimization करना

1 Keyword Research करना

जब भी हम अपने ब्लॉग पर आर्टिकल लिखते हैं तो सबसे पहले हम ऐसे keywords को ढूंढते हैं जिसे गूगल पर ज्यादा लोग सर्च कर रहें हो और उस पर रैंक भी किया जा सके, keyword research करना बहुत जरुरी है क्योंकि यदि हम बिना keyword research के कोई आर्टिकल लिखते हैं तो उसके रैंक होने के उम्मीद बहुत कम होती है।

Keyword research के लिए बहुत सारे tools हैं जिनका उपयोग किया जाता सकता है Keyword research करने के लिए |

जैसे:

Google Keyword Planner

Ahrefs

SEMrush

Ubersuggest  

इन tools की मदद से किसी भी keyword की search volume और competition देखा जा सकती है। 


On Page SEO Content Create करना

Target keyword मिलने के बाद अगला स्टेप होता है कंटेंट बनाना मतलब पोस्ट लिखना। आपको content create करते समय उसकी quality का ध्यान रखना पड़ता है, उसमे आपको quality content वाली चीजें डालनी हैं जिसे आपकी audience पढना चाहती है।

Keyword Optimization करना

इस स्टेप में हमें अपने target keywords को सही जगह पर optimize करना  होता है ताकि हमारा कंटेट उन keywords के लिए optimized हो जाए। इसमें हमें title tag, heading Tags (H1,H2),  URL structure आदि में सही तरीके से कीवर्ड डालकर optimization करना होता है। जिसमे से कुछ चीजे निचे दिया गया है |

Website Speed

Website की Navigation

Title Tag

Post का URL

Internal Link

Alt Tag
Content, Heading
और keyword

LSI Keyword 


2 SEO in Hindi - Off-Page SEO क्या है?

यहाँ पर कुछ Off Page SEO Techniques के बारे में बताया है, जो की आपके लिए बहुत उपयोगी हो सकता है |इसमें हम कुछ ऐसे SEO techniques का उपयोग करते हैं जो की हमारे वेबसाइट की रैंकिंग को boost करने में help करता है।

Off page SEO का सारा काम blog के बाहार होता है. Off page SEO में हमे blog का promotion करना होता है, website की authority और reputation को increase करना होता है।

Social networking site जैसे Facebook, twitter, Quora पर अपने website का attractive page बनाइये और वहां पर पोस्ट का लिंक शेयर करे इससे आपके website में ज्यादा visitors बढ़ने के chances होते हैं.

Search Engine Submission: अपनी वेबसाइट को सारे सर्च इंजन में submit करना.

3 SEO in Hindi -  Technical SEO क्या है?

आपकी वेबसाइट दिखने में अच्छी है, कंटेंट भी अच्छे डाले हैं इसके बाद आपको अपनी साईट को optimize करने की जरुरत पड़ सकती है। जैसे -

Page speed: आपके ब्लॉग/वेबसाइट की loading speed अच्छी होनी चाहिए

Mobile Friendly Site: आपकी ब्लॉग/वेबसाइट मोबाइल पर अच्छे से दिखाई देना चाहिए / responsive website theme का प्रयोग करना चाहिए।

HTTPs का उपयोग करें: यह एक प्रकार का secured protocol है, इसके लिए आपको SSL install करना होता है।

Robot.txt File: यह एक प्रकार की फाइल है जिसमे कुछ codes होते हैं जो की सर्च इंजन को बताते हैं की कौन से पेज को crawl / scan करना है और कौन से page को नही करना है।  

तो ये कुछ points थे technical SEO के |

4. Local SEO क्या होता है

Local SEO को अगर analysis करें तब ये दो शब्दों से बना है Local + SEO. Local SEO का मतलब यह है जब भी local audience को ध्यान में रखकर किया जाने वाले SEO को Local SEO कहा जाता है.

Local SEO का उदहारण

अगर आपके पास एक local business हो, जैसे की एक collage / shopping mall / दुकान, जहाँ पर लोगों का आपके यहाँ अक्सर आना जाना हो, तब ऐसे में आप अपने website को local SEO के हिसाब optimize करते हैं | जब आप केवल अपने ही किसी local area को ही target करते हैं और उसी हिसाब से आपके site को seo optimized करते हैं. तब इस प्रकार के SEO को “local SEO” कहा जाता है.

SEO और Internet marketing में Difference क्या है?

बहुत से लोगों में SEO और Internet Marketing को लेकर बहुत doubts होते हैं. उन्हें लगता है की ये दोनों एक समान हैं

SEO और Internet marketing में Difference क्या है?

बहुत से लोगों में SEO और Internet Marketing को लेकर बहुत doubts होते हैं. उन्हें लगता है की ये दोनों एक समान हैं



Post a Comment

0 Comments